10% Off

233.00

In Stock

You Save 25 ( 10% )

Compare

Description

Pravala Pishti Benefits:-

प्रवाल पिष्टी के फायदे

प्रवाल पिष्टी को कोरल से बनाते हैं और यह तासीर में ठंडा है। इसके सेवन से शरीर में ठंडक आती है और शरीर में पित्त की अधिकता से होने वाले विकारों में भी लाभ होता है। पेशाब की जलन, हाथ-पैर की जलन, पेट मे जलन आदि में भी इसे दिया जाता है। प्रवाल पिष्टी के कुलिंग गुण के कारण इसे बुखार में भी दिया जाता है। बुखार में इसके सेवन से पेरासिटामोल या एसिटामिनोफेन जैसा असर होता है और बुखार का वेग कम होना शुरू हो जाता है।
शरीर में लाए ठंडक
प्रवाल पिष्टी वात, पित्त और कफ दोष से हो रहे रोगों में लाभप्रद है लेकिन इसका मुख्य प्रभाव पित्त रोगों पर अधिक दीखता है क्योंकि यह शरीर में शीतलता लाती है।जिन लोगों के शरीर में जलन या गर्मी अक्सर रहती है उन्हें इस दवा का सेवन करके देखना चाहिए।
कम करे जलन
प्रवाल पिष्टी अम्लता और पित्त की अधिकता के विकारों में फायदेमंद हैं क्योंकि इसमें अम्लत्वनाशक (पेट में अम्ल उत्पादन कम कर देता है) गुण है। शरीर में पित्त की अधिकता से जलन, सिर में दर्द, हाइपरएसिडिटी आदि लक्षण होते है। प्रवाल पिष्टी को लेने से जलन और ब्लीडिंग की समस्या में लाभ होता है। गर्म दवाओं के सेवन के साथ आप प्रवाल पिष्टी को ले सकते हैं।
पित्त रोगों में प्रवाल पिष्टी को गुलकंद के साथ लेना चाहिए।
बुखार में करे फायदा
प्रवाल पिष्टी में ज्वरनाशक गुण है तथा यह एसिटामिनोफेन की तरह से बुखार को कम करने की दवा है। प्रवाल पिष्टी मस्तिष्क में तापमान केंद्र पर कार्य करके ज्वर काम करती है।
कैल्शियम का है स्रोत
प्रवाल पिष्टी प्राकृतिक कैल्शियम पूरक है। कैल्शियम कार्बोनेट, मैग्नीशियम और अन्य आवश्यक खनिज होने से यह हड्डियों के गठन में मदद करती है। इसे लेने से शरीर में कैल्शियम की कमी दूर होती है। इसमें गठिया नाशक गुण है। यह हड्डियों को मजबूत करने की दवा है।
बढ़ते बच्चों, किशोरावस्था और बाद में रजोनिवृत्ति महिलाओं को अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होती है। यह स्वस्थ हड्डियों, दांतों और कोशिका झिल्ली के विकास और रखरखाव के लिए प्राकृतिक कैल्शियम प्रदान करता है।

Additional information

Weight 0.100 kg